Breaking News

आदिवासी महासभा की बैठक में कई मुद्दों पर हुई चर्चा


विपिन सागर (मुख्य संपादक)

कानपुर। आल इंडिया आदिवासी एंप्लाइज फेडरेशन का वार्षिक अधिवेशन मुंबई विद्यापीठ महाराष्ट्र में आयोजित किया गया था। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर धुकर उइके (केन्द्रीय अध्यक्ष) आल इंडिया आदिवासी ईम्प्लाइज फेडरेशन के सानिध्य में हुआ। कार्यक्रम में प्रमुखता से कार्यक्रम उदधाटक केन्द्रीय महासचिव विजय कोकोडे, देवा पवार, डॉक्टर चेतन कुमार मसराम, सुरेश कन्नाके सहित सभी केन्द्रीय पदाधिकारियों के साथ साथ 18 राज्यों से आये सभी प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश महासचिव, प्रदेश कोषाध्यक्ष एवं सभी राज्यों के पदाधिकारीगण विशेष रूप से उपस्थित थे।

 इस अधिवेशन मे आल इंडिया आदिवासी ईम्प्लाइज फेडरेशन के कार्यशैली के साथ साथ पदाधिकारियों का चुनाव भी हुआ जिसमें उत्तर प्रदेश के महासचिव मनोज कुमार गोंड को केन्द्रीय उपाध्यक्ष पर कार्य करने की जिम्मेदारी इस फेडरेशन के केंद्रीय अध्यक्ष प्रोफेसर धुकर उईके ने सौपी। इस बैठक में आदिवासी हो समाज महासभा की सदस्यता अभियान इस कार्यक्रम में भारत के आदिवासियों के विभिन्न समस्याओं पर गंभीरता पुर्वक चर्चा किया गया। सामाजिक संगठन के माध्यम से पूरे कोल्हान प्रमण्डल में सामाजिक जागरूकता हेतु चल रहे आंतरिक कुरीतियाँ एवं बुराईयों, नशाखोरी व अंधविश्वास, सामाजिक प्रताड़ना व शोषण इत्यादि के खिलाफ नुक्कड़ सभा कार्यक्रम के बारे में जानकारी दिया गया । पशुपालन एवं कृषि, शिक्षा व स्वास्थ्य और रोजगार की दिशा में चलाये जा रहे गतिविधियों के बारे में जानकारी देकर महासभा का सदस्यता ग्रहण करने के लिये लोगों से अपील किया गया। 


इस अवसर पर आदिवासी बीएस रावटे, जितेंद्र धुर्वा, रविन्द्रनाथ टैगोर मरावी, कुर्शना पराड, तुकाराम मारगई, किशन तलपडे, विनोद कुमरे, यशंवत मलय, गजमल पवांर, विठ्ठलराव मरापे आदि ये सभी महाराष्ट्र के पदाधिकारीगण मौजूद रहे।

No comments

Thank you